Uncategorized

ਸਿੱਖਾਂ ਨੀ ISIS ਨਾਲ ਜੋੜਣ ਵਾਲਾ ਵਿਕਾਊ ਮੀਡਿਆ ਹੁਣ ਕਿਥੇ ਮਰ ਗਿਆ ਵੱਧ ਤੋਂ ਵੱਧ ਸ਼ੇਅਰ ਕਰੋ ਇਹ ਖ਼ਬਰ ਮੀਡਿਆ ਨੇ ਨਹੀਂ ਦਿਖਾਉਣੀ

Sharing is caring!

मोहन भागवत ने ISIS से 24 करोड़ रूपये लिए है, मेरे पास सबूत है : कोलसे पाटिल, महराष्ट्र हाई कोर्ट के पूर्व चीफ़ जस्टिस, वीडियो देखें संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आतंकवादी संगठन ISIS से लिये 24 करोड़ – बी एस कोलसे पाटिल संघ प्रमुख मोहन भागवत ने ISIS से 24 करोड़ रूपये लिए है, मेरे पास सबूत है – बी जी कोलसे पाटिलआतंकवादियोंसे पैसे लेने के पीछे संघ का कया मकसद हो सकता है ? मुझे इस खबर मे दम नही लगती है कयोकि 20 राज्यो में बीजेपी सरकार है उनको पैसे की क्या ज़रूरत है?सभी राज्यों मे सरकार हर महीने करोड़ो के टेंडर मे 5% कमीशन, सरकारी कामों मे 10% कमीशन, ओवरलोडिग 40% कमीशन, अवैध खनन 40%, अवैध शराब का पैसा लेती है। इसी पैसे से पार्टी और और उसकी आईटी सेल चलती है। यह लेन देन का खेल छुपा नही है पहले 1000 की नोटो के साथ टेबुल के नीचे और चाय की दुकान पर होता था पर अब बीजेपी ने 2000 के नोटो को छापकर रिश्वत खोरी को और आसान कर दिया है। 1000 की नोट कम मूल्य की और बड़ी जगह लेती थी। मोदी जी ने रिश्वत खोरी की परेशानियों को धयान मे रखकर 2000 की नोट जो बड़े मूल्य की है और कम जगह मे आसानी से ले और जाइ जा सकती है।मेरा मानना है कि बीजेपी के सारे राज्यो से कम से 1000 करोड़ बीजेपी ऑफिस और 300 करोड़ रूपये संघ के मुख्यालय भेजे जाते है ऐसे ही नही बीजेपी का फाइव स्टार ऑफिस 1400 करोड़ का बना है और चुनावी जनसभाओं मे जो करोड़ों का खर्च हो रहा है वो सब रिश्वत खोरी का पैसा खर्च हो रहा है। ये किसी भी पार्टी से छुपा नही है बस इस समय बीजेपी सबसे ज्यादा पैसे कमा रही है। उत्तर प्रदेश में तो बीजेपी विधायक ने ही चिठ्ठी लिखकर साबित कर दिया है कि बीजेपी 27% कमीशन ले रही है।तो ऐसे मे मोहन भागवत 24 करोड़ वो भी आतंकी संगठन से लेगे सवाल ही नही उठता है। लेकिन इष खबर पर मीडिया ने भी अपनी मुहर लगा दी है। अगर यह खबर गलत है तो मोदी सरकार को और मोहन भागवत को बिना देर किये इस चीफ जस्टिस के खिलाफ कार्रवाई कर देनी चाहिए। और अगर सही तो फिर कोई बात ही नहीं है कयोकि बीजेपी तो साधु संतो की पार्टी है। इसमे न कोई बलात्कारी है न कोई लुटेरा न कोई डकैत न कोई गुडा सब सदाचारी और संस्कारवान नेता है

You Might Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>